Home Breaking News हारे का साथी बाबा श्याम –

हारे का साथी बाबा श्याम –

126
SHARE

 कलियुग में देवों का देव यही है ,रंजन एंड ग्रुप द्वारा प्रस्तुत नृत्य नाटिका का शानदार मंचन हुआ….. 

रायगढ़ /अंचल की ख्यातिलब्ध सामाजिक धार्मिक एवं रचनात्मक कार्यो में अग्रणी संस्था द्वारा तीन दिवसीय दिनांक 17दिसम्बर से 19 दिसम्बर 2018, दिन बुधवार तक चलने वाले 3 दिवसीय 40वें विराट श्री श्याम महोत्सव के दूसरे दिन के क्रम में आयोजित संजय काम्पलेक्स स्थित श्याम बगीची में आयोजित कार्यक्रम हुआ जिसमें विस्तृत जानकारी देते हुए प्रचार मंत्री महावीर अग्रवाल ने बताया कि शानदार भजनों के कार्यक्रम में माघ सुदी एकादशी दिनांक 18 दिसम्बर मंगलवार को पावन पर्व एवं श्याम जन्मोत्सव व रात्रि जागरण कार्यक्रम के तहत आमंत्रित कलाकारों में बिकानेर से आमंत्रित भजन स्वर कोकीला कौशल्या-पूजा रमावत, ने भजनों की प्रस्तुती गणेश वंदना की प्रस्तुती कर कुछ यू – डाकिया जा रे,  श्याम ने संदेशों दीजे एवं बाजरे की रोटी खाले श्याम व कान्हा कांकरिया मत मार,मटकियॉ फूट जायेगी, सहित मेरे बांके बिहारी पिया, दिल तूने चुरा दिल मेरा लिया एवं मेरा दिल दिवाना हो गया , सांवरी सूरत मे मोहन दिल दिवाना हो गया, मोर छड़ी लहराई रे, … रसिया ओ बालमा…. सहित , वीर हनुमान जी के भजनों में लाल लंगोटा हाथ में घोटा, सालासर हनुमान बिराजे की प्रस्तुती दी वहीं कोलकाता से आये भजन गायक सूरज शर्मा ने कुछ यू श्याम भजनों में मुझे गम नहीं इस बात का साया बिना भी न मेरे साथ है … , मुझे गर्व है इस बात का… की मेरा सांवरा मेरे संग है … भजनों के रचयिता सूरज शर्मा ने श्याम जब से साथी बना.. संकट से हम न डरते है … हम तो श्याम के भरोसे चलते है एवं कुछ यंू जब कोई नहीं आता…. तब आता श्याम है … हारे का सहारा यही है … भाव पूर्ण भजनों में कुछ यूं देर न करो , देर न करो … श्याम के चरणों से कर ले तू प्यार… , इसी के साथ ही देवघर झारखंड से आये मनोज-अजीत बंधू ने श्याम प्रभु की भजनों में शीश के दानी को कोटी कोटी प्रणाम …. पावन खाटू धाम को प्रणाम एवं श्याम तेरी रहमतों का दरिया सरे आम बह रहा है व टिंवकल टिवंकल लिटिल स्टार …. कान्हा मेरा सुपर स्टार, व भोले नाथ की सुरीली भजनों में देवघर है, देवों का घर … ये पांडव कुल का अवतार श्याम बड़ा ही अलबेला है सहित अनेक धमाल गीतों से कलाकारों द्वारा श्रृंखला बद्ध भजनों की प्रस्तुती की गई ।  कोलकाता के नृत्य नाटिका ग्रुप द्वारा श्री गणेश वंदना एवं श्री राधा कृष्ण सखियों सहित, फूलों की होली . भगवान भोले नाथ पार्वती व गोकुल वृन्दावन में माखन चोर , बाल कृष्ण की लीला एवं भगवान शंकर का तांडव नृत्य सहित अनेको विभिन्न रूपों में नृत्य नाटिका से अपनी अनोखी उत्कृष्ट कला का अनुपम प्रदर्शन किया । इन सभी कलाकारों द्वारा प्रस्तुत भजनों ने भक्तों को ऐसा आकर्षित किया कि हर भक्त तालिया बजाते एवं जयकारा लगाते हुए श्री श्याम भक्ति में लीन हो गये थे । इस प्रकार रात्रि जागरण मंे सपरिवार हजारो श्रद्धालु पूरी रात्रि श्री श्याम का गुणगान करते रहे । श्री श्याम प्रभु की वंदना में एक से बढ़कर एक भजन पेश होते गये कलात्मक भाव पूर्ण भजन एवं आकर्षक नृत्य से भारी संख्या में उपस्थित सभी भक्त देर रात तक सपरिवार बैठने को मजबूर कर दिया , रात्रि 12 बजे श्री श्याम प्रभु का जन्मोत्सव धूमधाम एवं श्रद्धा पूर्वक मनाया गया । पूरे पंडाल में भक्तों की संख्या देखते ही बनती थी । उपस्थित भक्तों ने सभी भजनों को आनंद उठाते हुए जमकर झुमें , थिरके । श्री महावीर अग्रवाल ने बताया माघ शुदी बारस दिनांक 19 दिसम्बर बुधवार को प्रातः 11 बजे से श्री श्याम प्रभु की महाआरती के पश्चात नगर एवं बाहर के सपरिवार भक्तों द्वारा खीर चुरमा, पंचमेवा एवं सवामणी भोग प्रसाद श्याम प्रभु को अर्पण किया गया । गौरतलब है कि इस बार श्याम महोत्सव में भक्तों द्वारा सवा 2 टन से भी अधिक चुरमा, बूंदी,पंचमेवा का भोग प्रसाद लगाया गया यह प्रसाद इसलिए विशेष हो जाता है जब भक्त अपनी अरदास श्याम प्रभु को लगाते है, तब  श्री श्याम प्रभु द्वारा उनकी मांगी मनोकामना पूरी होती है तब यह प्रसाद बड़े चाव से श्रद्धा पूर्वक श्याम प्रभु को चढ़ाया जाता है ।